(2022) Cibil Score Kaise Badhaye | पूरी जानकारी

Cibil Score Kaise Badhaye

 CIBIL Score Kaise Badhaye: बैंक से लोन लेने के लिए सिबिल स्कोर का अच्छा होना जरूरी होता है। कई बार लोगो की अच्छी सैलरी के बाद भी बैंक उनको लोन लेने से मना कर देता है। इसके पीछे वजह सिबिल स्कोर का काफी कम होना होता है। जैसे हम सब जानते हैं आज के डिजिटल दौर में सब कुछ ऑनलाइन उपलब्ध है।

ऐसे में जब आप बैंक में लोन के लिए Apply करते है तो बैंक सबसे पहले आपके बारे में जानकारी इकट्ठा करता है। इसमे सिबिल स्कोर भी बैंक पता करता है। अगर सिबिल स्कोर अच्छा होता है तो बैंक लोन जल्दी अप्रूव कर देता है।

आसान भाषा मे कहे तो सिबिल स्कोर को देख कर ही बैंक लोन ऑफर करता है। जब किसी का सिबिल स्कोर अच्छा नही होता है तो बैंक जल्दी लोन अप्रूव नही करता है और लोन देने से मना कर देता है। या फिर काफी ज़्यादा ब्याज पर लोन देता है। आज हम जानेंगे कि सिबिल स्कोर को कैसे बढ़ाया जाए जिससे आसानी से लोन मिल सके।

CIBIL Score Kaise Badhaye | क्या सिबिल स्कोर बढ़ा सकते है?

 अब आप के मन मे सवाल होगा कि क्या सिबिल स्कोर को बढ़ाया जा सकता है? तो जवाब है हाँ, सिबिल स्कोर को बढ़ाया जा सकता है। लेकिन उसके पहले हम यह जानेंगे कि सिबिल स्कोर क्या होता है? इसको कैसे निकालते है? सिबिल स्कोर कैसे चेक कर सकते है, आदि के बारे में। 

सिबिल स्कोर क्या है?

सिबिल स्कोर को क्रेडिट स्कोर भी कहा जाता है। क्रेडिट स्कोर वित्तीय शाखा से जुड़ा होता है। सिबिल स्कोर या क्रेडिट स्कोर 300 से 900 के बीच की तीन अंको की एक संख्या होती है। किसी भी व्यक्ति के लिए सिबिल स्कोर ट्रांस यूनियन सिबिल लिमिटेड कंपनी द्वारा तय किया जाता है, जिसकी स्थापना वर्ष 2000 में हुई थी।

ट्रांस यूनियन सिबिल लिमिटेड एजेंसी ही लोगों का क्रेडिट रिपोर्ट और सिबिल स्कोर तय करती है। इस कंपनी द्वारा दिए गए सिबिल स्कोर से ही यह तय होता है कि कोइ बैंक या वित्तीय संस्था किसी व्यक्ति को लोन प्रदान करेगी या नही।

इसे भी पड़ें: जीरो डाउन पेमेंट बाइक लोन कैसे लें?

सिबिल स्कोर कैसे तैयार करते हैं?

सिबिल स्कोर की रिपोर्ट तैयार करने के लिए कंपनी क्रेडिट कार्ड से संबंधित भुगतान की जाँच करती है। यदि किसी ने लोन ले रखा है और लोन का भुगतान समय पर करता है तो इससे 30% सिबिल स्कोर तैयार होता है। इसके बाद सिक्योर्ड या अनसिक्योर्ड लोन पर 25% सिबिल स्कोर दिया जाता है। लोन का इस्तेमाल किस तरह से हो रहा है, इस पर 20% सिबिल स्कोर दिया जाता है। इसमे क्रेडिट एक्स्पोज़र सिबिल स्कोर का हिस्सा 25% होता है।

 इसलिए हर किसी को समय – समय पर अपना सिबिल स्कोर चेक करते रहना चाहिए। जिससे आपको अपने सिबिल स्कोर की सही जानकारी रहेगी।

लोन लेने के लिए कितना सिबिल स्कोर आवश्यक है?

बैंक से लोन लेने के लिए सिबिल स्कोर बहुत महत्वपूर्ण होता है। लेकिन सिबिल स्कोर कम होने पर इसको बढ़ाया जा सकता है।  कोई भी व्यक्ति अपना CIBIL Score Kaise Badhaye, इसको जानने के लिए सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि कितना सिबिल स्कोर होना चाहिए, जिससे लोन आसानी से मिल सके? जैसा कि ऊपर बताया सिबिल स्कोर 300 से 900 के बीच की एक तीन अंको की संख्या होती है। सिबिल स्कोर जितना अधिक होगा, उसे लोन के लिये उतना अच्छा माना जाता है।

किसी व्यक्ति के सिबिल स्कोर के आधार पर ही बैंक यह तय करता है कि व्यक्ति को लोन देना है या नही। एक रिपोर्ट के अनुसार लगभग 79% लोगों का सिबिल स्कोर 750 से ज्यादा देखने को मिलता है।

लेकिन हम आप को बता दे यदि किसी व्यक्ति का सिबिल स्कोर 300 से 550 के बीच है तो इसे खराब सिबिल स्कोर कहा जाता है। वहीं जिन लोगों का सिबिल स्कोर 550 से 650 के बीच होता है उसे औसत सिबिल स्कोर कहा जाता है। कई बार औसत सिबिल स्कोर की स्थिति में भी बैंक लोन देने से इंकार कर देता है, या फिर लोन पर ब्याज दर काफी ज़्यादा रहती है। लेकिन जिन लोगों का सिबिल स्कोर 650 से 750 के बीच होता है तो उसे अच्छा माना जाता है, और ऐसे लोगो को बैंक लोन दे देता है।

 वही जिन लोगों का सिबिल स्कोर 750 से 900 के आस पास होता है। उन लोगों को बैंक कम ब्याज दर पर आसानी से लोन एप्रूव्ड कर देता है। इस तरह से अच्छा सिबिल स्कोर लोन लेने के लिए जरूरी होता है। सिबिल स्कोर के लिए इसकी रिपोर्ट को देख सकते है।

इसे भी पड़ें: आधार कार्ड से लोन कैसे ले जाने पूरा प्रोसेस

सिबिल स्कोर की रिपोर्ट कैसे लें?

सिबिल स्कोर की रिपोर्ट लेने के लिए सबसे पहले CIBIL की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन फॉर्म भरना होता है। इसके लिए ₹550 के शुल्क का भुगतान भी करना होता है। इसमें तोड़ा वक्त लगता है। इस पूरी प्रक्रिया में आपका सिबिल स्कोर चेक किया जाता है। आप दो से तीन दिनों के अंदर सिबिल स्कोर रिपोर्ट देख सकते हैं।

सिबिल स्कोर कैसे खराब होता है?

सिबिल स्कोर के खराब होने के कई कारण होते है। जब लोग समय पर अपने लोन का भुगतान नही करते हैं तो इससे उनका सिबिल स्कोर खराब होने लगता है और दोबारा लोन लेने में परेशानी होती है। फिर बैंक लोन लेने के विषय के बारे में अधिक जांच पड़ताल करती है। बैंक जितनी बार आपके सिबिल स्कोर की जाँच करेगी, इसका सिबिल स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसका क्रेडिट पर भी नकारात्मक असर होता है और बैंक लोन नही देना चाहता।

ऐसे में हमेशा यह कोशिश करें कि अपने लोन की EMI का भुगतान समय से करें और सिबिल सकोर 750 से कम न होने पाये। क्योकि सिबिल स्कोर जितना अच्छा होता है, लोन उतनी ही आसानी से एप्रूव्ड हो जाता है।

इसे भी पड़ें: पेटीएम से लोन कैसे लें 2022

सिबिल स्कोर कैसे बढ़ाएं?

सिबिल स्कोर को बढ़ाने के लिए कुछ प्रमुख बातों को ध्यान में रखना बेहद जरूरी है। अगर कुछ बातों को ध्यान में रखा जाता है तो सिबिल स्कोर को आसानी से बढ़ाया जा सकता है। जैसे:

EMI समय पर जमा करें –

यदि आपने पहले से लोन ले रखा है तो आपको  EMI का भुगतान समय पर करना चाहिए। सिबिल स्कोर इस बात पर अधिक निर्भर करता है कि आप अपने EMI का भुगतान समय से कर रहे हैं अथवा नही। यदि आप EMI का भुगतान समय से नही करते हैं और अपना लोन समय से नही चुका पाते तो इसे डिफॉल्टर माना जाता है और यह रिपोर्ट क्रेडिट रिपोर्ट में दर्ज हो जाती है।

जिसकी वजह से सिबिल स्कोर कम हो जाता है। यही वजह है कि कंपनियां समय पर EMI का भुगतान करने को कहती है। लेकिन बहुत सारे लोग इसे अनदेखा कर देते हैं, जिसकी वजह से उनका सिबिल स्कोर खराब होने लगता है और दुबारा लोन मिलने में परेशानी होती है।

क्रेडिट कार्ड का बिल समय पर भरे –

आजकल बहुत सारे लोग क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे लोगों को हर महीने अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान करना चाहिए। समय पर क्रेडिट कार्ड का भुगतान करने से कंपनी को लगता है कि आप एक जिम्मेदार उधारकर्ता है और जिम्मेदारी से भुगतान करते है। इससे आपका क्रेडिट स्कोर सुधरने लगता है।

अगर आपके खर्चे अधिक हो तो इसके लिए हर महीने एक न्यूनतम धनराशि तय करें और क्रेडिट का जल्द से जल्द भुगतान कर दें। जिससे आपका सिबिल स्कोर बेहतर बन सके।

लोन समय से चुकाएं –

जब आप कंपनी से या बैंक से लोन लेते हैं तो हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि लोन उतना ही ले जितना आसानी से वापस कर सकें। इससे आप पर ज्यादा भार नही पड़ेगा और आसानी से किस्तें चुकाई जा सकेंगी। जब आप पहली बार किसी बैंक से लोन लेते हैं तो बैंक या वित्तीय संस्था यह समझती है कि आप जिम्मेदार उधारकर्ता है और आसानी से लोन वापस कर देंगे।

लेकिन यदि आप समय से लोन वापस नही करते हैं तो इसका असर सिबिल स्कोर पर पड़ता है और यह कम होने लगता है। इसलिए कोशिश करें कि जरूरत के अनुसार लोन ले और समय पर EMI का भुगतान करे।

क्रेडिट कार्ड का सही से उपयोग करें –

क्रेडिट कार्ड के बारे मे कहा जाता है कि इसका इस्तेमाल सोच समझ कर करना चाहिए। बहुत जरूरत होने पर ही क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करें। यही वजह है कि अक्सर सलाह दी जाती है कि क्रेडिट कार्ड लिमिट का केवल 30% ही इस्तेमाल करें। क्योकि CIBIL Score Kaise Badhaye में इसका महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसे क्रेडिट रिपोर्ट में शामिल किया जाता है और इससे सिबिल रिपोर्ट पर प्रभाव पड़ता है।

अपना पुराना क्रेडिट अकाउंट बन्द न करें –

अगर आप अपना पुराना क्रेडिट अकाउंट बंद कर देते हैं तब इसका भी सिबिल स्कोर पर दो तरह से प्रभाव पड़ता है। पहला, यदि आपका पुराना क्रेडिट अकाउंट एक्टिव रहता है तो क्रेडिट रिपोर्ट में आपकी क्रेडिट हिस्ट्री पुरानी नजर आएगी। जिससे बैंक को यह लगता है कि आपने लंबे समय से लोन ले रखा है। ऐसे में बैंक को आप पर भरोसा भी बढ़ जाता है।

दूसरा, यदि पुराना क्रेडिट अकाउंट एक्टिव रहता है तो अन्य क्रेडिट अकाउंट की लिमिट के साथ इसको मिला देने से क्रेडिट लिमिट बढ़ जाती है। फिर आप ज्यादा क्रेडिट का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसलिए यदि आप एक से अधिक क्रेडिट अकाउंट का इस्तेमाल कर रहे हैं तब अपने पुराने क्रेडिट अकाउंट को बंद न करें।

सिबिल स्कोर को चेक करते रहें

अगर संभव हो सके तो साल में 3 – 4 बार अपने सिबिल स्कोर जांच करवाते रहें। जिससे आपको पता रहे कि आपका सिबिल स्कोर कितना है? क्योंकि कई बार क्रेडिट रिपोर्ट में गलत जानकारी रहती है। जिसका सिबिल स्कोर पर असर पड़ता है। ऐसे में नियमित रूप से क्रेडिट रिपोर्ट को चेक करते रहना चाहिए, जिससे गलत जानकारी मिलने पर आप सूचना देकर इसे ठीक करा सकें।

सिबिल स्कोर कम होने पर डरने की कोई बात नही है। यदि एक बार आप का क्रेडिट खराब हो चुका है तो इसे दोबारा ठीक किया जा सकता है। कभी-कभी बिना किसी कारण के भी सिबिल स्कोर खराब हो जाता है। लेकिन सिबिल स्कोर रिपोर्ट को देख कर ऊपर बताई गई बातों को ध्यान में रख कर सिबिल स्कोर को सही कर सकते हैं।

यदि इसके बाद भी आपका सिबिल स्कोर कम है तो सिबिल कंपनी में सुधारने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

दोस्तो हम उम्मीद करते है कि अब आप समझ गए होंगे कि CIBIL Score Kaise Badhaye, अब आप भी ऊपर बताये गए सुझाव के आधार पर अपना सिबिल स्कोर अच्छा कर सकते हैं।

FAQs:

प्रश्न: What is the Full Form of CIBIL? | CIBIL की फुल फॉर्म क्या है?

उत्तर: CIBIL की फुल फॉर्म “Credit Information Bureau India Limited” है और यह एक ऐसी कंपनी है जो विभिन्न कंपनियों, फर्मों और व्यक्तियों के क्रेडिट रिकॉर्ड के प्रबंधन और रखरखाव में लगी हुई है, जिसके आधार पर ऋणदाता ऋण का वितरण करते हैं। बैंक और अन्य ऋण देने वाली संस्थाएं सिबिल को सूचना प्रस्तुत करती हैं जिसके आधार पर यह कंपनी सिबिल स्कोर की गणना करती है।

प्रश्न: पर्सनल लोन लेने के लिए न्यूनतम CIBIL स्कोर कितना होना चाहिए?

उत्तर: यदि आपका CIBIL स्कोर 750 और उससे अधिक है, तो लोन आसान हो जाता है। कई लेंडर व्यक्तिगत लोन आवेदनों को स्वीकार करते हैं, भले ही सिबिल स्कोर 650 हो लेकिन उन्हें लोन पर उच्च ब्याज का भुगतान करना पड़ सकता है।

प्रश्न: होम लोन के लिए आवश्यक न्यूनतम सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए?

उत्तर: भारत में होम लोन के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक न्यूनतम सिबिल स्कोर लेंडर्स पर निर्भर करता है, हालांकि
होम लोन के लिए कम से कम सिबिल स्कोर 650 से 750 तक अच्छा माना जाता है, और 750 से अधिक सिबिल स्कोर Excellent माना जाता है।

प्रश्न: आप एक अच्छा सिबिल स्कोर कैसे बनाए रख सकते हैं?

उत्तर: 1. EMI समय पर जमा करें
2. क्रेडिट कार्ड का बिल समय पर भरे
3. लोन समय से चुकाएं
4. क्रेडिट कार्ड का सही से उपयोग करें
5. अपना पुराना क्रेडिट अकाउंट बन्द न करें
6. सिबिल स्कोर को चेक करते रहें

प्रश्न: CIBIL कितने समय तक रिकॉर्ड रखता है?

उत्तर: CIBIL डिफॉल्टरों की सूची में शामिल लोगों और उनके डिफॉल्ट के विवरण पर नज़र रखता है। CIBIL पहली देर से रिपोर्ट की तारीख से 7 साल के लिए इस रिपोर्ट को रखता है।

अगर हमारी दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी हो या आपको कुछ सीखने को मिला हो तो आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ जरूर share करें ताकि वह भी इस जरुरी जानकरी को प्राप्त करके लाभ उठा सकें, ऐसी और भी जरुरी जानकरी के लिए हमारी वेबसाइट Loancharcha.in को जरूर बुकमार्क करें, धन्यवाद 😊

Click Here – Check your Cibil Score

Comments
  • बहुत ही सुंदर ढंग से विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई है जो कि बहुत ही ज्ञानवर्धक है। आपने जिस मेहनत से ये जानकारी उपलब्ध करवाई है, लोन बाजार आपकी इसके लिए दिल की गहराइयों से प्रशंसा करता है। बहुत ही सराहनीय प्रयास

Leave a Reply

Your email address will not be published.